Healthy Lifestyle For Eyes: आंखें हैं बेहद अनमोल, इनका रखें खास ख्याल, जानिए रोशनी बढ़ाने वाले 6 सुपरफूड

Healthy Lifestyle For Eyes: आज के समय में बूढ़े लोगों से लेकर छोटे बच्चों तक यानि लगभग सभी अपने फोन, टीवी और कंप्यूटर पर लंबा समय बिताते हैं। इससे उनकी आंखों को नुकसान पहुंच सकता है। समय के साथ, उनकी दृष्टि खराब हो सकती है। जब लोगों की आंखें कमजोर होती हैं, तो उन्हें देखने में कुछ समस्याएं हो सकती हैं। लेकिन कभी-कभी, वे इन समस्याओं पर ध्यान नहीं देते हैं और ये वास्तव में आंखों की गंभीर बीमारी में बदल सकती हैं। आज हम जानेंगे कि हमारी आंखों की रोशनी क्यों खराब हो सकती है और हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं।

कैसे पता करें कि आंखों की रोशनी कमजोर हो रही है?

जब आंखों की दृष्टि कमजोर होने लगती हैं तो इसके कुछ शुरुआती लक्षण दिखाई पड़ते हैं। जैसे- आंखों में दर्द होना, आंखों से पानी आना, आँखों में सूखापन, दूर का कम दिखाई देना या धुंधला दिखना, सिरदर्द, कभी-कभार कोई चीज दो दिखना, बल्ब या रोशनी वाली वस्तु के चारों तरफ गोल घेरा दिखना। इसके अतिरिक्त भी कुछ अन्य लक्षण होते हैं, जिन्हें आप नीचे दी गई इमेज में देख सकते हैं।

आँखों की बीमारियाँ कौन-कौनसी हैं?

यदि आप अपनी आंखों की समस्याओं पर ध्यान नहीं देते हैं, तो आप अपनी आंखों की रोशनी खो सकते हैं और अन्य तरीकों से भी बीमार पड़ सकते हैं।

  • मेक्युलर डिजेनरेशन (AMD)
  • रेटिनोपैथी ऑफ प्रीमैच्योरिटी (ROP)
  • ग्लूकोमा
  • मोतियाबिंद
  • एंबीलिया​​

आँखों की रोशनी कम होने के कारण

अपनी आँखों में आई ड्रॉप डालते समय आपको क्या-क्या सावधानियां रखना चाहिए?

आंखें नाजुक होती हैं और इन्हें आसानी से चोट पहुंचाई जा सकती है। कई बार लोग किसी दुकान से अपनी आंखों के लिए दवा खरीदकर इस्तेमाल करते हैं। लेकिन, कुछ लोग गलती से अपने कानों की दवा का उपयोग कर लेते हैं क्योंकि वे एक जैसे दिखते हैं।

यदि आप अपनी आंखों में बहुत अधिक दवा डालते हैं या बहुत लंबे समय तक आई ड्रॉप का उपयोग करते हैं, तो यह आपकी आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए, जब आप अपनी आंखों के लिए आई ड्रॉप जैसी दवा का उपयोग करते हैं, तो आपको वास्तव में सावधान रहने की आवश्यकता है।

आँखों की रोशनी बढ़ाने के उपाय

आँखों की रोशनी बढ़ाने के कुछ उपाय इस प्रकार हैं-

रोजाना आंखें धोयें

आंखें साफ पानी से धोने से धूल के कण और गंदगी साफ हो जाती है। सुबह-शाम या नींद लेकर उठने के बाद आंखों पर साफ पानी के छींटें मारें।

आंखों को एक्टिव रखें

पहले मुंह पानी लें, फिर आंखों पर साफ पानी के छींटे मारें। आपके मुंह में भरा पानी आंखों की मसल्स पर दबाव डालता है और आंखों की मसल्स एक्टिव होती है।

आंखों की रोशनी बढ़ाने वाली एक्सरसाइज करें

आंखों की पुतलियों (आईबॉल्स) को लेफ्ट से राइट, फिर ऊपर और नीचे घुमाना होता है। इस प्रक्रिया का दिन में कम से कम दो बार जरूर करें।

20-20-20 नियम को फॉलो करने की कोशिश करें। 20 मिनट लगातार लैपटॉप या कंप्यूटर स्क्रीन पर काम करने या देखने के बाद 1 या 2 मिनट का ब्रेक लें। इसके बाद 20 सेकेंड के लिए 20 फीट से अधिक दूरी पर देखें।

डाइट मेंटेन करें

अपने खानपान में सुधार करें साथ ही अपनी डाइट में नट्स, खट्टे फल, गाजर, शकरकंद, बीफ, फलियां और हरी पत्तेदार सब्जियां शामिल करें।

धूप में जाते समय धूप का चश्मा लगायें

धूप में कम करते समय या धूप में जाते समय धूप का चश्मा पहनें। यह हमारी आंखों को हानिकारक UVA और UVB किरणों से बचाव करता है।

गंदे हाथ से आंखों को न छूयें

बार-बार गंदे हाथों से आंखों को नही छूना चाहिए क्योकिं ऐसा करने से आँखों में इन्फेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता हैं। इसके लिए हाथों को हमेशा साफ रने चाहिए। आँखों को मलते समय जोर से नहीं रगड़ना चाहिए।

अच्छी नींद लें

हमारी आँखें पुरे दिन काम करती हैं जिससे इनमे भी थकान आ जाती हैं। इसलिए आंखों को पूरे दिन ठीक से काम करने के बाद रेस्ट के लिए 8 घंटे की नींद आवश्यक है। पर्याप्त नींद न लेने के कारण आंखों में तनाव और दर्द रहता है।

आँखों की रोशनी बढ़ाने की वाले फूड्स

यहां कुछ सुपरफूड्स बताये जा रहे हैं जो आंखों की रोशनी बढ़ाने में सहायक हैं। इन फूड्स का सेवन जरुर करें।

गाजर: गाजर में बीटा कैरोटीन पाया जाता है, जो विटामिन ए का सोर्स है। विटामिन ए आंखों की रोशनी बढ़ाने के साथ ही रतौंधी को भी दूर करता है।

पालक: पालक मे ल्यूटिन और जेक्सैंथिन नामक एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होता है। ये दोनों एंटीऑक्सीडेंट्स आंखों की रोशनी बढ़ाने और मोतियाबिंद के खतरे को कम करने में मददगार हैं।

अलसी और चिया सीड: इनमे ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। ये एसिड रेटिना को सही ढंग से काम करने में सहायता करता है और आंखों को स्वस्थ रखता है।

खट्टे फल: खट्टे फल जैसे- संतरा, नींबू और अंगूर आदि में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता हैं, जो आंखों की रक्त कोशिकाओं को स्वस्थ बनाए रखता हैं और साथ ही मोतियाबिंद के खतरे को भी कम करने में सहायता करता हैं।

मेवे और सीड्स: ड्राई फ्रूट्स जैसे- बादाम, अखरोट, काजू, सूरजमुखी के बीज और अलसी विटामिन ई और ओमेगा-3 फैटी एसिड के अच्छे स्त्रोत माने जाते हैं। ये आंखों को पोषण प्रदान करते हैं।

अंडे: अंडे में ल्यूटिन, जेक्सैंथिन, विटामिन ई और जिंक की उपस्थिति होती हैं। ये आंखों की पुरानी बीमारियों के खतरे से बचाता है।

7 सब्जियां जरूर शामिल करें सलाद में

  1. आइसबर्ग, लेटस (सलाद के पत्ते)
  2. पालक के पत्ते
  3. गाजर
  4. चुकंदर
  5. लाल-पीली-हरी शिमला मिर्च
  6. मूली
  7. खीरा

सलाद में वो सभी आवश्यक पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो आंखों को तंदुरस्त बनाए रखने के साथ-साथ ही उनकी दृष्टी को बढ़ाने में सहायक हैं। सलाद में आंखों को मजबूत और चमकदार बनाये रखने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन ए, विटामिन ई और राइबोफ्लेविन पाया जाता है।

आंखों को हेल्दी बनाये रखने के लिए क्या करें?

अपनी आंखों की रोशनी बनाये रखने तथा आँखों को हेल्दी रखने के लिए नीचे लिखे टिप्स को फॉलो करें।

  1. स्क्रीन के सामने देर तक न बैठें।
  2. स्क्रीन से सही दूरी बनाए रखें।
  3. आंखों को यूवी किरणों से सुरक्षित रखें।
  4. आंखों की साफ-सफाई का ख्याल रखें।
  5. पर्याप्त पानी पिएं और पर्याप्त नींद लें।

ये भी पढ़ें –

मॉर्निंग में ड्राई फ्रूट्स खाने के जबरदस्त फायदे, न्यूट्रिशन वैल्यू व उपयोग करने का तरीका

पिंपल्स को प्राकृतिक और स्थायी रूप से हटाने के 7 तरीके

Winter Skincare Tips: सर्दियों में मुलायम और चमकदार त्वचा पाने के लिए अपनाये ये तरीके

माइग्रेन सिरदर्द: आइये जानते हैं माइग्रेन के कारण, उपचार, प्रकार और लक्षणों के बारे में

अनियमित पीरियड्स: अनियमित मासिक धर्म के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार

Updated: November 1, 2023 — 2:58 PM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *