डिटॉक्स- शरीर में जमा गंदगी निकालने के 9 अचूक तरीके: त्योहारों के सीजन में बेहिसाब खाने-पीने शरीर होगा खराब, किचन की 7 चीजें संवारेंगी सेहत

डिटॉक्स: नवरात्रि उत्सव शुरू हो चुका है। उसके बाद हम दशहरा, दिवाली और छठ पूजा मनाएंगे। इन त्योहारों के दौरान, हमारे पास खाने के लिए बहुत सारे स्वादिष्ट भोजन होंगे। हम घर पर तरह-तरह के व्यंजन बनाएंगे। फिलहाल आटा, तेल, घी, चीनी और खोया से बने खाद्य पदार्थों पर प्रतिबंध से किसी को कोई परेशानी नहीं होगी।

लोग बाज़ार के इन व्यंजनों और मिठाइयों के बारे में न तो सोचेंगे और न ही इसकी परवाह करेंगे। भविष्य में हमारे भोजन में नमक और मसाले बहुत अधिक हो जायेंगे, इतना कि आप सोचेंगे कि यह बहुत ज़्यादा है। ठीक से सांस लेने में सक्षम होने के लिए हमें अपने शरीर को साफ करने की आवश्यकता होगी।

यदि आपको कभी भी इसमें सहायता की आवश्यकता हो तो हम आपकी सहायता कर सकते हैं। अपने शरीर को साफ करने के लिए विशेषज्ञों और शोधकर्ताओं की सलाह का उपयोग करना आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता हैं। यह लेख एक जादुई औषधि की तरह हो सकता है जो आपको फिर से स्वस्थ होने में मदद करता है।

सबसे पहले डिटॉक्स के बारे में जानते हैं, जिसका चलन आजकल सुनने में काफी आ रहा है।

डिटॉक्स क्या हैं?

डिटॉक्स शब्द टॉक्सिन से लिया गया है, जिसका मतलब है कि पॉल्यूटेंट्स, सिंथेटिक केमिकल्स, हेवी मेटल्स और प्रॉसेस्ड फूड जो हमारे शरीर की सेहत को खराब कर देते हैं।

शरीर को डिटॉक्स करने का अर्थ है कि किडनी, लिवर, पाचन तंत्र, फेफड़ों और स्किन में जमा गंदगी को बाहर निकालना, क्योंकि ये ऐसे अंग हैं, जो शरीर से सारी गंदगी बाहर निकालकर उसे ऊर्जावान बनाए रखते हैं।

बहुत से लोग अपने शरीर को डिटॉक्स करने के लिए अलग-अलग चीजें आजमाते हैं। कुछ लोग कई दिनों तक बिना खाए रहते हैं, जबकि अन्य कुछ केवल ताजे फल और सब्जियों का रस, स्मूदी, पानी और चाय ही पीते हैं। वे व्यायाम भी करते हैं और नींबू पानी और जड़ी-बूटियाँ का भी सेवन करते हैं।

त्रिदोष के असंतुलन से खराब होती है सेहत

आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉ. आर अचल का कहना है कि आयुर्वेद में वात, पित्त और कफ नामक तीन चीजों के आधार पर लोगों का इलाज किया जाता है। जब ये चीजें संतुलित नहीं होती हैं, तो इससे शरीर ठीक से काम नहीं कर पाता है।

आजकल लोगों की अस्वस्थ आदतें होने के कारण उनका शरीर असंतुलित हो जाता है और हानिकारक पदार्थ उत्पन्न करने लगता है। इसे ठीक करने के कई तरीके हैं और उनमें से कुछ आप घर पर ही कर सकते हैं।

नेति और नास्य विधि

आपके सांस लेने के व्यायाम की तरह है। यह आपकी नाक खोलने में मदद करता है और बूगर्स से छुटकारा दिलाता है। एक मज़ेदार खेल में, पानी आपके एक नथुने में डाला जाता है और फिर दूसरे से बाहर निकलता है। नस्य में जड़ी-बूटियों और अन्य तेलों से बने एक विशेष तेल का उपयोग करते हैं। ये तेल तिल, जैतून या सूरजमुखी के तेल में सौंफ, शंखपुष्पी, ब्राह्मी, नीलगिरी जैसी जड़ी-बूटियों को मिलाकर बनाया जाता है। इस तेल को नाक में डालते हैं।

धौति क्रिया

एक विशेष क्रिया है जिसे लोग सुबह कुछ भी खाने से पहले करते हैं। यह गले, दांत और पेट को साफ करने में मदद करता है। यह पेट को नहलाने जैसा है, जो उसे बेहतर महसूस करा सकता है और एलर्जी और अस्थमा जैसी समस्याओं को रोकने में मदद कर सकता है।

(ये भी पढ़ेंपिंपल्स को प्राकृतिक और स्थायी रूप से हटाने के 7 तरीके)

ऑयल पुलिंग

इस विधि में आप कुछ भी खाने से पहले 15 मिनट तक अपने मुंह में एक बड़ा चम्मच तेल घुमाते हैं। यह आपके दांतों को मजबूत और स्वस्थ बनाने में मदद करता है। यह नींद न आने की समस्या, मुंहासे, घाव और साइनस जैसी समस्याओं में भी मदद कर सकता है।

कपालभाति

एक साँस लेने का व्यायाम है जहाँ आप अपनी नाक से साँस लेते हैं और छोड़ते हैं। यह आपके शरीर में अधिक ऑक्सीजन लाने में मदद करता है और कब्ज, साइनस की समस्या, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग और हर्निया जैसी चीजों में मदद कर सकता है।

यह आपके पूरे शरीर को अच्छा और संतुलित महसूस कराने में भी मदद करता है। फेफड़ों और किडनी को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करता है और शरीर को कचरे से छुटकारा पाने में मदद करता है।

हल्दी, त्रिफला, अदरक और नीम अपने आहार में शामिल करें

डॉक्टर बताते हैं कि आप घर पर बना खाना खाएं और अपने भोजन में हल्दी, त्रिफला, अदरक, अश्वगंधा और नीम जैसी कुछ विशेष सामग्री शामिल करें। अपने शरीर को खराब चीजों से छुटकारा दिलाने के लिए, डेयरी खाद्य पदार्थ कम खाएं और सूप, नारियल पानी, ताजे फलों का रस और स्टू पिएं।

शरीर को डिटॉक्स करना क्यों जरूरी है?

अपने शरीर को डिटॉक्स करने यानि स्वस्थ बनाने के लिए, आपको शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाना होगा और अपनी आंतों को मजबूत बनाना होगा। शरीर को डिटॉक्स करने के लिए आपको खास चीजें खानी और पीनी चाहिए।

डिटॉक्स आपके शरीर और दिमाग को अच्छा और मजबूत महसूस कराने के लिए एक विशेष प्रक्रिया जैसा है। ऐसा करने से मानसिक तनाव और अन्य समस्याओं से छुटकारा मिलता है और हमें अधिक ऊर्जा मिलती है। इसलिए हमें हफ्ते में एक बार अपने शरीर को डिटॉक्स करना चाहिए।

डिटॉक्सिफिकेशन आपके शरीर को स्वस्थ और मजबूत रखने के लिए उसे साफ करने जैसा है। यह आपको बीमार होने से बचाने में मदद करता है और यह सुनिश्चित करता है कि आपके शरीर के सभी अंग अच्छी तरह से काम कर रहे हैं। आप घर पर ही अपने शरीर को साफ़ कर सकते हैं, लेकिन कुछ भी नया आज़माने से पहले डॉक्टर से ज़रूर सलाह लें।

ये भी पढ़ें –

मॉर्निंग में ड्राई फ्रूट्स खाने के जबरदस्त फायदे, न्यूट्रिशन वैल्यू व उपयोग करने का तरीका

Winter Skincare Tips: सर्दियों में मुलायम और चमकदार त्वचा पाने के लिए अपनाये ये तरीके

माइग्रेन सिरदर्द: आइये जानते हैं माइग्रेन के कारण, उपचार, प्रकार और लक्षणों के बारे में

अनियमित पीरियड्स: अनियमित मासिक धर्म के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार

Updated: October 28, 2023 — 2:41 PM

1 Comment

Add a Comment
  1. बहुत ही लाभदायक जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *