शरीर की गर्मी कम करने के लिए अपनाएं ये 8 आयुर्वेदिक उपाय

Ayurvedic Remedies to Reduce Body Heat: इस समय भारत में भीषण गर्मी पड़ रही हैं। घर से निकलते ही गर्मी का एहसास होने लगता हैं। जिसके कारण शरीर का तापमान बढ़ जाता हैं। किसी भी व्यक्ति को स्वस्थ रहने के लिए उसके शरीर का तापमान सामान्य रहना जरूरी हैं। एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर का सामान्य तापमान 97.8 डिग्री फ़ॉरेन्हाइट से 99.0 डिग्री फ़ॉरेन्हाइट (36.6C – 37.2C  ) के मध्य होना चाहिए। शरीर का तापमान नॉर्मल रखना बहुत जरूरी हैं। इसका घटना या बढना कई प्रकार की परेशानियां पैदा कर सकता हैं| इसलिए इस लेख में हम जानेगे कि शरीर में गर्मी क्यों पैदा होती हैं और उसके कम करने के कुछ घरेलू उपायों के बारे में-

शरीर में गर्मी पैदा होने के कारण क्या हैं?

गर्म और उमस भरे मौसम में अधिक समय तक रहने से शरीर का तापमान बढ़ जाता हैं। इसके अलावा अधिक समय तक धूप में रहने, गर्म चीजों को खाने से या अधिक एक्सरसाइज करने से भी बॉडी का तापमान बढ़ जाता हैं। वैज्ञानिकों का मानना है कि हमारे शरीर में ब्लड सर्कुलेट करने वाली प्रणाली तापमान को नियंत्रित करने का काम करती है। जब हमारी रक्त वाहिकाएं फैलती है, तो इससे खून का सर्कुलेशन तेजी से होता हैं।  रक्त संचार की रफ्तार जब तेज होती है, तो इससे शरीर में अतिरिक्त ऊर्जा उत्पन्न होने लगती है। जिसके कारण ज्यादा गर्मी महसूस होती हैं।

गर्मी को कम करने के घरेलू उपाय

दही और छाछ

Ayurvedic remedies to reduce body heat: दही और छाछ का नियमित सेवन करने से पेट की गर्मी से आराम मिलता हैं। गर्मियों के मौसम में तो खाने के साथ दही या छाछ अवश्य खानी चाहिए। क्योकि इनकी तासीर ठंडी होती हैं जो गर्मी को कम करने में सहायता करती हैं। दही और छाछ में पोषक तत्वों की भरपूर मात्रा होती हैं जिससे शरीर को एनर्जी मिलती हैं। आप दही का रायता बनाकर भी खा सकते हैं। साथ ही मसलेदार छाछ या मीठी छाछ पी सकते हैं। यह एक एनर्जी ड्रिंक है जो गर्मी व बरसात के मौसम के कारण आँतों में होने वाली समस्याओं से भी राहत प्रदान करता है।

प्याज

प्याज खाने से न केवल शरीर को ठंडक पहुँचती हैं बल्कि लू से भी बचाव होता हैं। प्याज को एक सुपरफूड माना जाता हैं। यदि आपकों अकेला कच्चा प्याज खाना पसंद न हो तो आप इसे नींबू और नमक के साथ मिलाकर इसका सलाद बनाकर भी खा सकते हैं। इसके अलावा प्याज को सब्जी, करी ओर रायते में भी डालकर खाया जा सकता हैं। लाल प्याज में क्वेरसेटिन भरपूर मात्रा में होता हैं जिसे एक एंटी एलर्जिक माना जाता हैं। प्याज का लगातार सेवन शरीर की कई बीमारियों का रामबाण ईलाज हैं।

पिम्पल्स को हटाने के घरेलू उपाय

गुलकंद का शरबत

गुलकंद का शरबत पीने से हमारे शरीर को ठंडक पहुंचती हैं। इसलिए गर्मियों के मौसम में गुलकंद का शरबत पीना फायदेमंद होता हैं। गुलकंद में विटामिन C, E और B अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। गर्मियों में गुलकंद का शरबत पीने से शरीर की उर्जा का स्तर बेहतर होता हैं साथ ही यह आपकी सुस्ती और थकान को कम करके फ्रेश महसूस कराता हैं। इसके अलावा गुलकंद का सेवन पेट सम्बन्धी समस्या, वजन कम करने, प्रेगनेंसी, थकान कम करने, आँखों व त्वचा के लिए फायदेमंद हैं।

नारियल पानी

गर्मियों में सुबह खाली पेट नारियल का पानी पीना बहुत ही फायदेमंद होता हैं। नारियल पानी पीने से शरीर हाइड्रेट रहता है क्योंकि इसमें पोटैशियम, सोडियम और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते है। नारियल पानी पीने से शरीर में ताजगी महसूस होती हैं। नारियल पानी में इलेक्ट्रोलाइट्स, लॉरिक एसिड, पोटैशियम, मैग्नीशियम और जिंक की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।

पुदीने का पानी

पुदीना कई गुणों से भरपूर होता है। गर्मियों के मौसम में पुदीने की मांग काफी अधिक बढ़ जाती है, क्योंकि ये शरीर को ठंडक प्रदान करता है। पुदीने से आप कई प्रकार की डिश बना सकते है। गर्मियों में  पुदीने की चटनी बहुत ज्यादा खाई जाती है। परन्तु कई लोग इसका पानी भी बहुत पसंद करते हैं। पुदीना के पानी का स्वाद पीने में बहुत ही लाजवाब होता है। आप भी गर्मी से बचने के लिए पुदीने का पानी पी सकते हैं।

दरअसल गर्मियों के मौसम में पुदीना पानी का नियमित सेवन करने से शरीर का तापमान मेंटेन रहता हैं साथ ही यह पानी पेट संबंधी परेशानियों में भी राहत पहुंचाता है। पुदीना पानी पीने से डाइजेशन में भी सुधार आता है। जिन लोगों की इम्यूनिटी वीक है, वो भी पुदीना पानी का नियमित सेवन करें। आपको बता दें कि पुदीना का पानी स्किन के लिए भी लाभदायक होता है।

समय पर भोजन करें

गर्मियों के मौसम में धूप और पसीने की वजह से हमे थकान जल्दी होने लगती हैं। गर्मी के मौसम में थोड़ा सा काम करते ही पसीना आ जाता हैं और सांस फूलने लगती है। धूप की गर्मी शरीर की ताकत को ख़त्म कर देती हैं जिस कारण हमें सिरदर्द और चक्कर आने लगते हैं और हम थककर बैठ जाते हैं। गर्मी के मौसम में प्यास ज्यादा लगती हैं और भूख कम लगती है। इसी कारण शरीर को पूरा पोषण नहीं मिल पाता है और हमें थकान, कमजोरी और बेचैनी महसूस होने लगती है| इसलिए समय पर भोजन करना चाहिए ताकि शरीर की एनर्जी कम न हो।

गर्मियों में आपको खाने में सब्जियों के रूप में तौरी, लौकी, टिंडा, सीताफल, ब्रोकली, करेला आदि का सेवन अधिक करना चाहिए। ये सब्जियां आपको डिहाईड्रेशन से बचाने में सहायता करती हैं और बॉडी को एक्टिव रखती हैं। इन सब्जियों में प्रचुर मात्रा में पानी और पोटेशियम होता है, जो कि हाई बीपी और इलेक्ट्रोलाइट बैंलेस बनाए रखने में मदद करते हैं।

पानी से भरपूर फल खाएं

गर्मी के मौसम में कई तरह के फल जैसे – पपीता, केला, चीकू, तरबूज, खरबूजा, अंगूर, मौसंबी, नारंगी, रसबेरी, अनानास, आम, स्ट्रॉबेरी और अन्य सीजनल फलों का खूब सेवन करना चाहिए। ये फल ऊर्जा प्रदान करने के साथ- साथ  डिहाइड्रेशन को भी रोकते हैं। साथ ही शरीर के तापमान को बनाये रखने में सहायता करते हैं।

सत्तू का सेवन करें

भारत में सत्तू के शरबत को गर्मियों का रामबाण इलाज माना जाता है। पोदीने की चटनी और भुने हुए जीरे को मिलाकर बनाए जाने वाला यह शरबत न सिर्फ आपको गर्मी बचाता है बल्कि आपके वजन को भी घटाने में सहायक है। वैसे तो सत्तू को गरीबों का खाना माना जाता है लेकिन शायद आपको पता न हो, इसमें प्रचुर मात्रा में प्रोटीन, आयरन, फाइबर, मैंगनीज, सोडियम, कार्बोहाइड्रेट, मैग्नीशियम, आयरन, कॉपर और मैग्नीशियम पाया जाता है।

सत्तू को पीने से शरीर को तुरंत एनर्जी मिलती है। यह आपको डिहाइड्रेशन से बचाने के साथ ही लंबे समय तक भूख का अहसास भी नहीं होने देता हैं। सत्तू की तासीर ठंडी होती है जिसके कारण इसका सेवन आप कभी भी कर सकते हैं। ठंडी तासीर होने के कारण इसे गर्मी में प्रतिदिन खाने की सलाह एक्सपर्ट भी देते हैं। यह पेट को अंदर से शीतल रखता है।

यह भी पढ़ें

घर बैठे ब्लड शुगर (डायबिटीज) को नियंत्रित करने के 5 आसान तरीके

एसिडिटी और गैस की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए करे ये 5 योगासन

Updated: October 28, 2023 — 2:10 PM

2 Comments

Add a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *