जानें ! डायबिटीज में तरबूज खा सकते है या नहीं, डायबिटीज पेशेंट के लिए बेस्ट फ्रूटस

Benefits Of Eating Watermelon: यदि आप डायबिटीज के रोगी है तो घबराने की कोई बात नहीं है क्योंकि गर्मियों में कुछ ऐसे फल होते हैं जिनका डायबिटीज वाले लोग स्वस्थ एम् संतुलित आहार के रूप में आनंद ले सकते है।

गर्मी के मौसम में कुछ ऐसे हाइड्रेटिंग फूड खाने से आपके स्वास्थ्य को लाभ मिलता है। गर्मियों के मौसम में सबसे पसंदीदा फल तरबूज होता है क्योंकि इसमें जल की मात्रा सर्वाधिक होती है जो आपके शरीर में जल की आपूर्ति को पूरा करता हैं।
लेकिन क्या यह है मीठा तरबूज डायबिटीज मरीजों के लिए हानिकारक है? क्या मीठा तरबूज खाने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है? ऐसे सवाल डायबिटीज मरीजों या उनकी देखरेख करने वाले लोगों के होते हैं इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि तरबूज डायबिटीज मरीजों के लिए अच्छे हैं या बुरे?

तरबूज खाने से मिलने वाले फायदे- [ Benefits of Eating watermelon ]

एंटी ऑक्सीडेंट :-

तरबूज में विटामिन सी और लाइकोपीन एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर मात्रा में मिलते हैं जो पुरानी बीमारियों को रोकने में मदद कर सकते हैं और सेलुलर क्षति से बचाने का कार्य करते हैं।

पाचन तंत्र :-

इसमें फाइबर प्रचुर मात्रा में होता है जो पाचन में सहायता कर सकता है। तरबूज खाने से पेट संबंधित बीमारियों में राहत मिलती है| तथा साथ में पेट में बनने वाली गैस को रोकता है।

 त्वचा का स्वास्थ्य :-

तरबूज में पानी की मात्रा अधिक होती है ओर विटामिन सी भी पाया जाता है जो त्वचा को हाइड्रेट रखने और बॉडी को स्वस्थ बना सकता है, क्योंकि तरबूज एक हाइड्रेट फल होता है।


मांसपेंशियों की रिकवरी :-

तरबूज में अमीनो एसिड होता है जो एक्सरसाइज के बाद मांसपेशियों की रिकवरी में सुधार कर सकता है।
यह मांसपेशियों के दर्द को कम कर सकता है।

इसे भी पढ़ें :- घर बैठे ब्लड शुगर (डायबिटीज) को नियंत्रित करने के 5 आसान तरीके

जाने! तरबूज डायबिटीज के लिए अच्छा होता है क्या ?

जो व्यक्ति हाई ब्लड शुगर के लेवल के लिए चीनी का सेवन कम करते हैं उनके लिए तरबूज खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा हो सकता है। यह एक मीठा फल है जिसमें कम ग्लाइसेमिक लोड होता है। डायबिटीज वाला व्यक्ति तरबूज का सेवन कर सकता है लेकिन यह ध्यान रखना जरूरी है कि डायबिटीज वाले व्यक्ति को अपनी ब्लड शुगर लेवल की जांच कराना जरूरी है।
डायबिटीज वाले व्यक्ति को अपनी डाइट प्लान के लिए डॉक्टर से परामर्श लेना जरूरी है। डायबिटीज वाले मरीज के लिए तरबूज का सेवन करना खराब तो नहीं है लेकिन इसे कम मात्रा में सेवन करना चाहिए। अपने ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए डाइट प्लान पर काम करना चाहिए।

पिम्पल्स हटाने के घरेलु उपाय

डायबिटीज में ऐसे कौन-कौन से फल,जो फायदेमंद है?

Benefits Of Eating Watermelon: आप डायबिटीज के मरीज है तो घबराने की कोई बात नहीं है, क्योंकि गर्मियों में कुछ ऐसे फल हैं जिनका सेवन डायबिटीज वाले व्यक्ति स्वस्थ और संतुलित आहार के रूप में ले सकते हैं। विशेषज्ञों की मानें तो डायबिटीज के रोगी रसभरी, ब्लूबेरी, ब्लैकबेरी का सेवन कर सकते हैं। जिनमें शुगर की मात्रा कम और फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जो डायबिटीज वाले व्यक्ति के लिए एक अच्छा विकल्प है।

डायबिटीज में खाने योग्य फल

  • आलूबुखारा विटामिन, खनिज और फाइबर से भरपूर होता है और इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती है।
  • यह एक एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा स्त्रोत है और ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में सहायता कर सकता है।
  • कीवी में विटामिन सी, फाइबर और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में होता है इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती है।
  • इसमें एंजाइम भी होते हैं जो पाचन स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं।
  • खरबूजा भी डायबिटीज वाले व्यक्ति के लिए अच्छा स्त्रोत होता है इसमें पानी की मात्रा अधिक व कैलोरी की मात्रा कम होती है।
  • खरबूजा बॉडी को हाइड्रेट रखने में मदद करता है।

गुलकंद खाने के फायदे व नुकसान

FAQ

Q 1. नार्मल ब्लड शुगर लेवल कितना होता है?

Ans. हमारे शरीर में नॉर्मल ब्लड शुगर का नॉर्मल स्तर 100 mg/dL से कम होता हैं।
भोजन करने के बाद शुगर लेवल 120 से 140 mg/dL के बीच होता है।
जब फास्टिंग शुगर 100-125 mg/dL और पोस्ट मील शुगर 140-160 mg/dL हो, तब इसे प्री डायबिटीज माना जाता है।

Q 2.खाली पेट शुगर का लेवल कितना होना चाहिए?

Ans. स्वस्थ व्यक्ति का खाली पेट शुगर का स्तर 70-100 mg/dL होना चाहिए।

Q 3.शुगर के मरीज को क्या परहेज करना चाहिए?

Ans.डायबिटीज के मरीजों को खाने में ज्यादा नमक का सेवन नहीं करना चाहिए
डायबिटीज के मरीजों को कोल्ड्रिंक्स नुकसान कर सकती है, इसलिए इससे पहरेज कि सलाह दी जाती है।
खाने में चीनी का इस्तेमाल कम से कम करें।
आइसक्रीम और टॉफी डायबिटीज के मरीजों के लिए खतरनाक हो सकती है।

Updated: October 28, 2023 — 2:04 PM

1 Comment

Add a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *