वर्षा में डेंगू, मलेरिया के खतरों से दूर रहने के लिए इन हर्ब्स (जड़ी बूटी) का सेवन करें, होंगी अन्य परेशानियां भी दूर

Best Ayurvedic Home Remedies For Dengue Malaria: इस मौसम में होने वाली बीमारियां खतरनाक साबित हो सकती हैं इन बरसात के दिनों में होने वाली डेंगू मलेरिया के खतरों को कम करने के लिए आप कुछ आयुर्वेदिक हर्ब्स (जड़ी बूटी) का प्रयोग कर सकते हैं। आइए आज जानते हैं कुछ असरदार हर्ब्स के बारे में विस्तार से-

कौन -कौन सी हर्ब्स (जड़ी बूटी) जो डेंगू, मलेरिया में फायदेमंद हैं

Best Ayurvedic Home Remedies For Dengue Malaria: बारिश के सीजन में कई तरह के मच्छर पनपते हैं, जिसमें डेंगू और मलेरिया जैसे मच्छर जनित बीमारियां शामिल हैं। हर साल एक बड़ी आबादी इससे प्रभावित होती हैं। मानसून के दौरान मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया के मामले सबसे अधिक सामने आते हैं।

इसकी वजह से तेज बुखार, सिरदर्द, आंखों के पीछे दर्द, थकान, जोड़ों में दर्द, स्किन पर लाल चकत्ते, मतली और उल्टी जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं। डेंगू बुखार की स्थिति का समय पर इलाज करने के लिए तुरंत डॉक्टर की देखभाल की आवश्यकता होती है। इसके अलावा कुछ आयुर्वेदिक नुस्खों की मदद से आप डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया के लक्षणों को कम कर सकते हैं। आइए जानते हैं इन आयुर्वेदिक हर्ब्स के बारे में-

पपीते के पत्ते का रस – Papaya Leaf Juice For Dengue

  • Best Ayurvedic Home Remedies For Dengue Malaria
  • डेंगू के मरीजों में प्लेटलेट काउंट कम हो जाता है, तो ऐसी स्थिति में पपीते के पत्तों का रस पीने काफी आराम मिलता है।
  • पपीते के पत्तों का रस एंटीऑक्सीडेंट है जो बॉडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है|
  • जिससे डेंगू, मलेरिया जैसे बीमारियों का इलाज करने में सहायता मिलती है।
  • डेंगू में पपीते की पत्तियों का उपयोग करने के लिए पपीते की कुछ पत्तियां लें।
  • इसे अच्छे से कुचलकर इसका रस निकालकर पी लें। जो काफी हद तक लाभदायक हो सकता है।

शारीरिक कमज़ोरी दूर करेगें ये 10 ड्राई फ्रूट्स

मेथी दाना या मेथी की पत्तियां – Fenugreek Relief From Dengue Malaria Symptoms

  • मेथी के बीजों में कई तरह के पोषक तत्व मिलते हैं, जो मच्छर जनित बीमारियों से अपने शरीर का बचाव करता है।
  • इसका सेवन करने के लिए आप एक कप गर्म पानी में कुछ मेथी के बीजों को भिगोकर रखें।
  • अब पानी को ठंडा होने दें और दिन में दो बार इसका सेवन करें।
  • मेथी का पानी आपको कई तरह के स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकता है।
  • मुख्य रूप से इसमें मौजूद विटामिन सी, विटामिन के और फाइबर आपके समग्र शरीर के लिए फायदेमंद हो सकता है।

तुलसी की पत्तियां – Tulsi For Dengue Malaria

  • कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि डेंगू वायरस के खिलाफ तुलसी की पत्तिया फायदेमंद हो सकती हैं।
  • अगर आप डेंगू और मलेरिया के लक्षणों को दूर करना चाहते हैं, तो नियमित रूप से तुलसी की चाय का सेवन करें।
  • इसके लिए तुलसी की कुछ ताजी पत्तियों को पानी में उबाल लें।
  • इसे कुछ देर तक उबलने दें और एक कप में छान लें।
  • स्वाद के लिए आप इसमें नींबू के रस की कुछ बूंदें या एक चम्मच शहद मिला सकते हैं।
  • इससे डेंगू के लक्षणों में सुधार देखने को मिल सकता है।

पिम्पल्स को हटाने के स्थायी उपाय

लौंग तेल

  • मच्छरों को दूर भगाने को लेकर हुए कई शोध में यह बात साबित हो चुकी है कि लौंग के तेल की महक से मच्छर दूर भाग जाते हैं|
  • मच्छरों को दूर भगाने के लिए लौंग के तेल में नारियल तेल मिलाकर उसे अपनी त्वचा पर लगा लें|
  • ये उपाय एक मॉस्किटो रिपेलेंट क्रीम की तरह काम करेगा।

गिलोय का जूस – Giloy Juice For Dengue

  • आयुर्वेद में गिलोय का काफी ज्यादा महत्व है।
  • यह मच्छरों से होने वाली बीमारियों के खतरों को दूर करने में प्रभावी साबित हो सकता है।
  • गिलोय का रस मेटाबॉलिज्म में सुधार करता है और प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर कर सकता है।
  • इम्यूनिटी पावर बूस्ट होने से डेंगू बुखार से लड़ने में काफी हद तक मदद मिलती है।
  • इतना ही नहीं, यह प्लेटलेट काउंट को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकती है।
  • बरसात के दिनों में होने वाली ( Is giloy juice good for dengue patients? ) डेंगू बुखार, मलेरिया के खतरों को कम करने के लिए गिलोय के पौधे की दो छोटी डंडियों को कुचलकर इसे एक गिलास पानी में उबालकर, हल्का गर्म होने पर चाय की तरह पिएं।
  • दिन में दो बार पी इसका सेवन करने से आपको काफी लाभ मिलेगा।
Updated: October 28, 2023 — 1:51 PM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *