इस लाल मोटे अनाज के सेवन से कंट्रोल रहता है ब्लड शुगर लेवल,जाने इस अनाज के 5 बड़े फायदे

Health Benefits Of Ragi: रागी में विटामिन ए, विटामिन डी, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम फास्फोरस और पोटेशियम जिससे अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में मिलते हैं| इन सभी पोषक तत्वों की मात्रा रागी में मिलती है| एक स्वस्थ शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होती है|

डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो बॉडी में शुगर लेवल का स्तर बढ़ने के कारण होती है| एक डायबिटीज मरीज के लिए स्वस्थ आहार बहुत लाभदायक होता है जो उसे उचित पोषण प्रदान करवाता है और शुगर लेवल कण्ट्रोल करने में मदद करता है|रागी एक स्वस्थ अनाज होता है जो उच्च प्रोटीन ,फाइबर,विटामिन और मिनरल्स से भरपूर होता है|इस आर्टिकल में हम आपको रागी खाने के डायबिटीज मरीज के लिए कुछ फायदे बतायेंगे|

रागी में पोषक तत्वों की मात्रा

पोषणमात्रा – 100 gm
फाइबर19.1 gm
कुल फिनोल102 gm
कार्बोहाइड्रेट72.6 gm
कैल्शियम344 gm
फास्फोरस283 gm
आयरन3.8 gm
मैग्नीशियम137 gm
सोडियम11 gm
पोटेशियम408 gm
कॉपर0.47 gm
मैग्नीज5.49 gm
ज़िंक2.3 gm
राइबोफ्लेविन0.19 gm
नियासिन1.1 gm

डायबिटीज में रागी के फायदे –

शुगर को कण्ट्रोल करना (Sugar Level Is Controlled By Eating Ragi)

  • रागी खाने से डायबिटीज मरीज के शुगर लेवल को कन्ट्रोल करने में मदद मिलती है|
  • रागी एक उच्च्च फाइबर वाला अनाज होता है जो शुगर लेवल को संतुलित करने में सहायता करता है|
  • इनके अलावा ,रागी में कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है ,जो शुगर लेवल को संतुलित करने में सहायता करता है|

घर बैठे ब्लड शुगर (डायबिटीज) को नियंत्रित करने के 5 आसान तरीके

वजन कम करना

  • रागी एक ऐसा अनाज है, जिसमें फाइबर की मात्रा भरपूर होती है।
  • फाइबर के सेवन से पेट भरे होने का अहसास देर तक रहता है।
  • इससे जल्दी-जल्दी भूख नहीं लगती और आप कुछ भी उल्टा-सीधा खाने से बचे रहते हैं।

पाचन तंत्र में सुधार

  • रागी में फाइबर की मात्रा अधिक होने से पाचन तंत्र में सुधार करती है|
  • यह अनाज पाचन तंत्र के लिए बहुत ही फायदेमंद है जो बॉडी को एनर्जी प्रदान करता है भूख को कम करता है|

हृदय स्वास्थ्य में सुधार

Health Benefits Of Ragi: रागी में प्रचुर मात्रा में एंटी ओक्सिडेंटस होते है ,जो हृदय स्वास्थ्य में सुधार करती है|रागी लॉ डेंसिटी लिपोप्रोटिन (LDL) को कम करता है ,जो हृदय सम्बंधित समस्याओ से जुड़ा होता है|

जानें ! डायबिटीज में तरबूज खा सकते है या नहीं!

बाहरी आक्रमणों से लड़ना (Sugar Level Is Controlled By Eating Ragi)

  • रागी खाने से इम्युनिटी सिस्टिम में सुधार होता है|
  • रागी  Vit- C और Vit-A केसोर्से  के रूप में कम करता है|
  • जो बाहरी आक्रमणों से लड़ना  में सहायता करता है |
  • रागी एक अलग आहार विकल्प है जो डायबिटीज मरीज के लिए स्वस्थ विकल्प हो सकता है|
  • रागी ग्लूटेन – FREE होता है ओर व्हिट से अलग होता है ,जो उच्च ग्लाइसेमिक इंडेक्स (GI स्कोर 54 और 68 के बीच) होता है|
  • रागी खाने से डायबिटीज से सम्बंधित समस्याओ से बचा जा सकता है|

FAQ

Q 1. क्या रागी में शुगर की मात्रा ज्यादा होती है?

Ans. हाँ| रागी से रक्त शर्करा का स्तर बढ़ जाता है।
इसलिए, हम यह सुझाव नहीं देते हैं कि यह चने के आटे (बेसन) या आटे (गेहूं के आटे) का एक स्वस्थ विकल्प है।

Q 2. रागी या गेहूं कौन सा बेहतर है?

Ans.अध्ययनों से पता चला है कि रागी के स्वास्थ्य लाभ गेहूं की तुलना में बहुत अधिक हैं।
यह लस मुक्त है,हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है, रागी फाइबर सामग्री,जो पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मदद करती है|
रागी वजन घटाने में सहायता के लिए भी एक बढ़िया विकल्प है।

Q 3. क्या रागी ग्लूटेन फ्री है?

Ans. रागी अच्छे कार्बोहाइड्रेट का एक समृद्ध स्रोत है, यह ग्लूटेन-मुक्त है और उन लोगों के लिए अत्यधिक उपयुक्त है जो ग्लूटेन असहिष्णु हैं, इसके अलावा, यह कई आवश्यक अमीनो एसिड से भरपूर है। रागी का आटा कैल्शियम के सर्वोत्तम गैर-डेयरी स्रोतों में से एक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *