Reduce Blood Sugar Level: आइये जानते हैं हर्बल टी से ब्लड शुगर लेवल कम करने के बारे में

Reduce Blood Sugar Level: बॉडी में ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए आप हर्बल टी का सेवन कर सकते हैं। इस आर्टिकल में आइए जानते हैं ब्लड शुगर कंट्रोल करने वाली कुछ खास चाय के बारे में-

यदि शरीर में थकान या सुस्ती हो तो ,इसके लिए  गरमा-गर्म  चाय का एक कप मिल जाए तो सारी थकान फुर्र से दूर हो जाती हैं। यदि आप दूध या चीनी युक्त चाय पी रहे हैं, तो इससे आपको कई प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में आपके लिये हर्बल टी एक बेस्ट ऑप्शन हो सकता है।

क्या आप जानते हैं कि यदि आप सही यानी नैचुरल टी का सेवन करते हैं, तो आपको इंसुलिन के स्तर को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है। साथ ही आपके शरीर में ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद मिलती है। जी हां, ऐसे कई हर्बल चाय हैं जो आपकी बॉडी में ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में प्रभावी हो सकता है। आइए जानते है विस्तार से लेख में इन चाय के बारे में-

ग्रीन टी (How to Reduce Blood Sugar Level with Herbal Green Tea)

ग्रीन टी एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है ,जिसका रोजाना सेवन करने से आपके शरीर की कोशिकाओं (Cells) को डैमेज होने से रोका जा सकता है। इसके अलावा ग्रीन टी सूजन को भी प्रभावी ढंग से कम कर सकती है। विशेषज्ञयों के अनुसार, ग्रीन टी में एपिगैलोकैटेचिन गैलेट (EGCG) नामक बायोएक्टिव यौगिक मिलतें हैं, जो मांसपेशियों की कोशिकाओं में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ने से रोक सकती हैं। साथ ही ग्रीन टी ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में सहायता कर सकती है। इसके अलावा यदि आप दिन में दो कप ग्रीन टी पीते हैं, तो यह काफी हद तक आपके बॉडी के बढ़ते वजन को कंट्रोल कर सकती है तथा बॉडी फेट को कम करती है।

पिम्पल्स को स्थायी रूप से हटाने के तरीके

गुड़हल की चाय (How to Reduce Blood Sugar Level with Herbal Tea)

क्या आपको रंग काफी पसंद हैं? यदि हां, तो लाल रंग के फूल से बनने वाली चाय हर्बल टी आपके लिए बहुत ही बेस्ट हो सकती है। हिबिस्कस यानी गुड़हल, पॉलीफेनोल्स, कार्बनिक अम्ल और एंथोसायनिन जैसे एंटीऑक्सिडेंट के गुणों से भरपूर होती है, जो सूजन को कम करने में मदद करता है। नियमित रूप से इस खास हर्बल टी का सेवन करने से इंसुलिन प्रतिरोध में सुधार किया जा सकता है, जिससे ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है। इतना ही नहीं, यह हाई ब्लड प्रेशर रोगियों के लिए भी फायदेमंद है।

नींबू पानी पीने के फायदे व नुकसान

ब्लैक टी (Black Tea)

ब्लैक टी आपके शरीर में प्राकृतिक रूप से इंसुलिन के स्तर को प्रबंधित करने में मददगार हो सकती है। दरअसल, ब्लैक टी में थेफ्लेविन और थेरुबिगिन्स जैसे आवश्यक यौगिक होते हैं, जो एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सिडेंट और ब्लड शुगर को कम करने में मददगार हो सकता है।रिसर्च से पता चलता है कि रोजाना 2 से 3 कप ब्लैक टी पीने से इंसुलिन स्राव में कमी हो सकती है, जो स्वाभाविक रूप से शर्करा (Sugar) के स्तर को control करने में असरदार होती है।

शरीर की गर्मी कम करने के लिए अपनाएं ये 8 आयुर्वेदिक उपाय

  • शरीर में ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए आप इन खास हर्बल टी का सेवन कर सकते हैं।
  • ध्यान दें कि ये सुझाव आपके लिए उपयोगी हो सकते हैं,
  • लेकिन आपको डायबिटीज की समस्याएं काफी ज्यादा बढ़ रही हैं तो इस स्थिति में एक्सपर्ट की मदद लेना न भूलें। 
  • वे आपको सही उपाय और आपकी व्यक्तिगत स्थिति के अनुसार सलाह देंगे।

FAQ

Q 1. क्या ग्रीन टी ब्लड शुगर कम करने के लिए अच्छी है?

Ans. जिन लोगों को पहले से ही मधुमेह है, उनके लिए हरी चाय रक्त शर्करा के स्तर को प्रबंधित करने में मदद कर सकती है । एक व्यापक समीक्षा के अनुसार, ग्रीन टी का सेवन फास्टिंग ग्लूकोज के स्तर और ए1सी के स्तर में कमी के साथ-साथ फास्टिंग इंसुलिन के स्तर में कमी के साथ जुड़ा हुआ है|जो मधुमेह स्वास्थ्य का एक माप है।

Q 2. हर्बल चाय स्पाइक इंसुलिन करता है?

Ans. चाय और इन्फ्यूजन टाइप 2 मधुमेह में कैसे मदद कर सकते हैं।
टाइप 2 मधुमेह वाले किसी व्यक्ति के लिए बिना चीनी वाली चाय या हर्बल अर्क कम कैलोरी वाले पेय का एक अच्छा विकल्प हो सकता है|
क्योंकि यह पेय रक्त शर्करा के स्तर को प्रभावित नहीं करता है
वे निर्जलीकरण से बचने में भी मदद कर सकते हैं, जो रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकता है।

Q 3.ग्रीन टी पीने का सही तरीका क्या है?

Ans. ग्रीन का सेवन कर रहे लोग याद रखें ये जरूरी बातें
खाली पेट ग्रीन टी पीना नुकसानदायक हो सकता है, हमेशा कुछ हल्का फुल्का खाकर ही इसका सेवन करें|
ग्रीन टी में दूध और चीनी मिलाकर नहीं पियें|
इसमें शहद मिलाकर पीना फायदेमंद साबित हो सकता है|
खाने के तुरंत बाद भी ग्रीन टी पीना खतरनाक हो सकता है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *